[दीवान]दूरदर्शन के वो पुराने दिन याद आते हैं:

vineet kumar vineetdu at gmail.com
Sat Nov 7 22:43:58 CST 2015


<http://4.bp.blogspot.com/-ehJ0XZWDeVk/Vj7S1fTg19I/AAAAAAAAR0I/Wr03D3KOxCw/s1600/Screen%2BShot%2B2015-11-08%2Bat%2B10.13.27%2Bam.png>

ndtv24x7 पर डॉ. प्रणय के साथ योगेन्द्र यादव आम आदमी पार्टी के भूतपूर्व नेता
नहीं, किसान नेता नहीं, एक ऐसे चुनाव विश्लेषक के अंदाज में हैं जिन्हें आपने
कभी रात-रातभर जागकर दूरदर्शन पर डॉ. प्रणय के साथ देखा करते थे.

भारतीय टेलीविजन में एक्जिट पोल की शुरुआत की कहानी से जब आप गुजरेंगे तो आपको
ये बात बार-बार पढ़ने के मिलेगी कि योगेन्द्र यादव वो शख्स हैं जिन्होंने
चुनावी राजनीति और उसके विश्लेषण को दिलचस्प, ग्लैमरस और इसे न्यूज चैनल का
मनोरंजन सामग्री बनाया. योगेन्द्र की भाषा, धैर्य और कल्चरल स्टडीज की
शब्दावली के प्रयोग के हम पहले से भी कायल रहे हैं लेकिन ऐसे मौके पर आप
इन्हें सुनते हैं तो आप इस जल्दीबाजी में भी एडिटोरियल पढ़ रहे होते हैं..आप
महसूस करेंगे कि सामने टीपी पर इपीडब्ल्यू का पन्ना स्कॉल हो रहा हो और वो उसे
आहिस्ता-आहिस्ता पढ़ते जा रहे हैं..
-------------- next part --------------
An HTML attachment was scrubbed...
URL: <http://mail.mail.sarai.net/pipermail/deewan_mail.sarai.net/attachments/20151108/ab1cb5ec/attachment-0001.html>


More information about the Deewan mailing list