[दीवान]जिन्हें जन-धन योजना पर नाज है

vineet kumar vineetdu at gmail.com
Fri May 8 03:41:15 CDT 2015


गंगाराम हॉस्पिटल की पेमेंट काउंटर के आगे अपना एटीएम बढ़ाया तो दस सेकंड में
लौटाते हुए मूड़ीनोचबा ने कहा- आपका ये एटीएम जन-धन योजना का है, इससे आप एक
दिन में एक हज़ार से ज़्यादा की पेमेंट नहीं कर सकते.

..लेकिन ये तो सैलरी अकाउंट पर इशू किया है.
ये तो आप बैंक में जाकर बात कीजिए. खैर साये की तरह पीछे खड़े बिल्लू( नवीन
रमण) ने सारे बिल पे कर दिए..लेकिन उस वक़्त बिल्लू न होता तो या फिर जिसका कोई
बिल्लू नहीं है और सच में उसका एटीएम जन-धन योजना के तहत मिला हो तो..?

1000 रूपए में अस्पताल जैसी जगह में कोई क्या नहा और क्या निचोड़ लेगा ? कहने
को तो जन-धन योजना के तहत लाखों के अकाउंट खुल गए लेकिन वक्त पड़ने पर वो इसका
क्या करेगा ? इस तरह की योजनाओं के पीछे जितना पैसा पानी की तरह बहाया जा रहा
है, एक बार इसके भीतर की हकीकत झांककर देखें तो लगेगा इस देश का आदमी सरकार के
ही हाथों साजिश का शिकार होता जा रहा है.
-------------- next part --------------
An HTML attachment was scrubbed...
URL: <http://mail.mail.sarai.net/pipermail/deewan_mail.sarai.net/attachments/20150508/0a021108/attachment.html>


More information about the Deewan mailing list