[दीवान]हमने परमाणु परीक्षण का विरोध क्यों कियाः प्रफुल्ल विदवई

vineet kumar vineetdu at gmail.com
Wed Jun 24 12:55:51 CDT 2015


<http://3.bp.blogspot.com/-CG06x6l9Trw/VYruqU8LtKI/AAAAAAAARbY/PFe-DifkMH0/s1600/Screen%2BShot%2B2015-06-24%2Bat%2B11.23.20%2Bpm.png>

पोखरण में जब परमाणु परीक्षण हुआ, रॉयटर न्यूज एजेंसी ने स्टोरी की जिसमे
बताया कि परीक्षण के पहले-दूसरे दिन से ही वहां के लोगों की आंखों में जलन
शुरु हो गई, खुजली की शिकायत आने लगी..मुझे लगता है कि बात सिर्फ इतनी भर की
नहीं थी..इससे कई भयानक और तेज प्रभाव हुए होंगे..उल्टियां और भी बाकी चीजें.

मैं परीक्षण के तीन सप्ताह बाद पोखरण गया लेकिन ये सारी शिकायतें दबा दी गईं
थी..कहीं इन सब बातों की चर्चा ही नहीं हुई जबकि इस पर गहन अध्ययन-शोध की
जरूरत थी. पोखरण परमाणु के एक दशक बाद देखिए कि पश्चिमी राजस्थान खासकर जोधपुर
और जैसलमेर जैसे जिलों में कैंसर के मरीजों में तेजी से इजाफा हुआ. उनके बीच
फेफडे, हड्डी और उदर कैंसर तेजी से बढ़े और ये सब ज्यादातर रेडियो एक्टिव
प्रभाव के कारण हुए...
( प्रभुल्ल विदवई का अमिताभ घोष को दिए इंटरव्यू का एक अंश जो कि पहले न्यू
यार्कर पत्रिका में और बाद में काउंटडाउन नाम से किताब की शक्ल में प्रकाशित
हुआ.

विस्तार से पढने के लिए चटका लगाएं-
http://scroll.in/article/736510/why-i-opposed-indias-nuclear-tests-journalist-praful-bidwai-interviewed-by-amitav-ghosh
-------------- next part --------------
An HTML attachment was scrubbed...
URL: <http://mail.mail.sarai.net/pipermail/deewan_mail.sarai.net/attachments/20150624/b00a0752/attachment.html>


More information about the Deewan mailing list