[दीवान] शोमा चौधरी की हो गई इन्डस्ट्री में वापसी

vineet kumar vineetdu at gmail.com
Tue Jun 23 14:05:48 CDT 2015


<http://3.bp.blogspot.com/-4nlM2VluRdg/VYmtqAiLR7I/AAAAAAAARak/4uiqpEw7zP4/s1600/Screen%2BShot%2B2015-06-24%2Bat%2B12.13.07%2Bam.png>

तरुण तेजपाल प्रकरण के दौरान तहलका की तत्कालीन मैनेजिंग एडिटर शोमा चौधरी की
जिस तरह की फजीहत हुई( जाहिर है उस वक्त उनका स्टैंड भी पॉलिटिकली झोलझाल टाइप
का था) और लोग असहमत होने के नाम पर अव्वल दर्जे की की नीचता पर उतर आए, परम
राष्ट्रवादियों ने उनके घर की बोर्ड को कालिख से पोत दिया, उसके बाद वो पब्लिक
डोमेन से एकदम से गायब हो गईं. न ट्विटर पर, न किसी अखबार या पत्रिका
में..अंग्रेजी के कुछ पत्रकार ऐसे हैं जिनकी बातों से असहमत और कई बार न
प्रभावित होते हुए भी उनकी पानीदार अंग्रेजी की वजह से सबकुछ लिखा, पढ़ना
अच्छा लगता है..शोमा चौधरी की अंग्रेजी भी मुझे बेहद पसंद है. लिहाजा, उन्हें
मिस करता था.

इधर कैच न्यूज को रोज पढना शुरु किया है. मोबाईल और टैब पाठकों को ध्यान में
रखते हुए वेबसाइट की जो खेप आई है, उसमे catch news अपनी लेआउट में बेहद
आकर्षक है और शोमा चौधरी इसकी एडिटर इन चीफ है. उनकी भी स्टोरी हुआ करती हैं.
अच्छा है बिना शोर-शराबे के ये वेबसाइट बेहद गंभीरता से नए किस्म की सामग्री
हम पाठकों तक पहुंचा रहा है. हां ये जरुर है कि न्यूज बिल्कुल अशोक प्रकाशन
फॉर्मेट में है..आप प्वाइंट रट जाओ, वैतरणी पार लग जाएगी जैसी..क्या पता, इसी
को ध्यान में रखकर इसे चुना हो.शुरु-शुरु में नाम से भी धोखा हो सकता है कि
कहीं ये कोठारी ग्रुप के कैच मसालेवालों की वेबसाइट तो नहीं..ये स्वाभाविक भी
है जब अंसल बिल्डर कंपनी भी हो और यूनिवर्सिटी भी चला रही हो..धंधा तो कोई भी
किसी चीज का कर सकता है. ‪#‎मीडियामंडी‬
<https://www.facebook.com/hashtag/%E0%A4%AE%E0%A5%80%E0%A4%A1%E0%A4%BF%E0%A4%AF%E0%A4%BE%E0%A4%AE%E0%A4%82%E0%A4%A1%E0%A5%80?source=feed_text&story_id=10206667408341560>
-------------- next part --------------
An HTML attachment was scrubbed...
URL: <http://mail.mail.sarai.net/pipermail/deewan_mail.sarai.net/attachments/20150624/0b0fc074/attachment.html>


More information about the Deewan mailing list